Page Nav

HIDE

home loan eligibility क्या होना चाहिए। home loan कैसे लें और कहां से लें।

 home loan लेने के क्या eligibility होना चाहिए। home loan कैसे लें और कहां से लें। कभी भी home loan लेते समय हमें अपने eligibility जरूर पता ...

 home loan लेने के क्या eligibility होना चाहिए। home loan कैसे लें और कहां से लें।

Home loan



कभी भी home loan लेते समय हमें अपने eligibility जरूर पता करना चाहिए और कभी भी इस तरह का लोन यानी कि home loan लेते समय यह जरूर पहले पता कर लेना चाहिए कि लोन में लगने वाले डाक्यूमेंट्स क्या-क्या हो सकते हैं किस माध्यम से हमें home loan मिल सकता है और किस किस बैंक में हमें कम इंटरेस्ट रेट पर होम लोन मिल सकता है और बैंक का क्या चार्ज होते हैं home loan लेते समय तो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में यही जानेंगे की home loan लेते समय eligibility क्या होना चाहिए। home loan कैसे लें और कहां से लें। आपको होम लोन लेना है तो आप इस पोस्ट को पूरे ध्यानपूर्वक पढ़िए गा और पूरा अंत तक पड़ेगा ताकि आपको होम लोन लेने में आसानी हो सके।


कौन लोग home loan ले सकते हैं और क्या eligibility होनी चाहिए।


. कितने वर्ष के लोग होम लोन ले सकते हैं


सबसे पहले जिसको होम लोन लेना है उसका उम्र देखना चाहिए होम लोन लेने के जो कम से कम आयु होती है वह 18 वर्ष की होती है तथा लोन मैच्योरिटी के समय अधिकतम आयु 70 वर्ष होती है। अगर देखा जाए अधिकांश कर होम लोन चुकाने की अधिकतम आयु 30 वर्ष का ही होता है अर्थात 30 वर्ष तक कि आपको लोन चुकाने की अवधि बैंकों की तरफ से दी जाती हैं। और यदि आप जॉब कर रहे हैं तो आपका जो रिटायरमेंट का समय होता है वही अधिकतम आयु का लोन लेने की क्राइटेरिया हो जाती है अगर आप एक जवान व्यक्ति हैं तो आपको होम लोन लेने के चांसेस बैंकों की तरफ से ज्यादा हो जाते हैं।


. किस आधार पर home loan मिलता है


सबसे पहले उन लोगों को ज्यादा होम लोन बैंकों की तरफ से दिया जाता है जो नौकरी यानी कि जॉब करते हैं कंपनी में कॉर्पोरेट फील्ड इत्यादि में किसी भी प्रकार की नौकरी करते हैं तो बैंक कम इंटरेस्ट रेट पर लोन देने के लिए तैयार हो जाती हैं क्योंकि जो जॉब यानी कि नौकरी इत्यादि करते हैं उनका जो सैलरी होता है वह स्थिर होता है और बैंकों को यह विश्वास रहता है कि नौकरी करने वाला व्यक्ति आसानी से होम लोन चुका सकता है यदि आप 2 साल से अधिक नौकरी करते हुए आपको हो गया है तो आपको होम लोन मिलने के चांसेस ज्यादा होते हैं अगर देखा जाए यदि आप व्यवसाय यानी कि बिजनेस इत्यादि करते हैं तो आपको होम लोन मिलेगा लेकिन आपका बिजनेस करते हुए जो अधिकतम समय होता है वह लगभग 3 साल से अधिक का होना चाहिए इसके बाद आपके सारे डाक्यूमेंट्स बैंक स्टेटमेंट आपका बिजनेस का पूरा डॉक्यूमेंट को सबमिट करने पड़ेंगे।



. होम लोन चुकाने की क्षमता के आधार पर


जो बैंक या फिर होम के लिए फाइनेंस करने वाली प्राइवेट कंपनियां उन लोगों को ज्यादा होम लोन देना पसंद करती हैं जो लोग 50 परसेंट तक का ही emi भुगतान करने के लिए आवेदन करते हैं यानी कि अगर आप किसी प्रॉपर्टी इत्यादि को ₹1000 में खरीद रहे हैं और ₹500 आप अपने तरफ से दे रहे हैं और आप से ₹500 होम लोन के तौर पर ले रहे हैं तो आपको जल्द ही होम लोन मिलने के चांसेस बढ़ जाते हैं।



home loan लेते समय किन किन डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होती है।


जिसको भी होम लोन चाहिए चाहे वह बिजनेस कर रहा हो या फिर जॉब कर रहा हूं दोनों चीजों में एक डाक्यूमेंट्स जो कामन होता है वह kyc मैं लगने वाले डाक्यूमेंट्स जैसे आधार कार्ड पैन कार्ड वोटर आईडी कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस फोटो और यदि आप किसी अपने दूसरे शहर में रह रहे हैं यानी कि अगर आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और आप दिल्ली में रह रहे हैं तो आपको लाइट बिल या फिर होम रेंट इत्यादि जो कामन id proof होते हैं केवाईसी के लिए वो लगते हैं होम लोन के लिए हम बात करते हैं जो व्यक्ति जॉब करता है यानी कि जो सैलरी वाला अकाउंट होते हैं उनको अगर होम लोन लेना है तो उनके लिए और क्या क्या डाक्यूमेंट्स देने पड़ते हैं मान लीजिए अगर आप अच्छा खासा जॉब कर रहे हैं अगर आपको होम लोन चाहिए तो जैसा कि मैंने ऊपर आपको बताया पहला केवाईसी के लिए जो डाक्यूमेंट्स लगते हैं वह दूसरा आपका 3 माह का सैलरी स्लिप तथा सिक्स मंथ का बैंक स्टेटमेंट और आप किस पोस्ट पर है आप का आईडी प्रूफ इसके साथ-साथ अगर आप अपने प्रमोशन लेटर ऑफर लेटर इत्यादि अगर देना चाहते हैं तो आप दे सकते हैं इसके साथ साथ आपको co applicant की भी आवश्यकता पड़ेगी यानी कि जिसे हम हिंदी में सह आवेदक भी बोलते हैं जितने आप के डाक्यूमेंट्स लगेंगे उतने ही आपके co applicant के भी डाक्यूमेंट्स जमा करने पड़ेंगे अब बात करते हैं यदि आप बिजनेसमैन हैं तो आपको किन किन डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी सबसे पहली बार जैसे मैंने के ऊपर आपको बताया केवाईसी का मन होता है चाहे आप जॉब कर रहे हैं या फिर बिजनेस कर रहे हैं केवाईसी के बाद में आप जिस भी बिजनेस को कर रहे हैं वह रजिस्टर्ड बिजनेस होना चाहिए और आपको अपने आरटीआर फाइल सबमिट करने पड़ेंगे जो आपके सीए के द्वारा वेरीफाई की रहे होंगे इसके साथ-साथ इसमें भी आपको अपने बिजनेस के पूरे डिटेल अपने बिजनेस का अकाउंट आपका अकाउंट और सिक्स मंथ का बैंक स्टेटमेंट और इसके साथ साथ आपका और किसी भी बैंक के साथ में कोई लोन इत्यादि अगर चल रहा है तो उसके भी सारे डाक्यूमेंट्स आपको जमा करना पड़ेगा। और आपका पूरा वेरिफिकेशन होने के बाद ही बैंक के द्वारा या फिर हाउसिंग लोन देने वाली कंपनियों के द्वारा आपको अप्रूवल मिलेगा।



होम लोन लेते समय और किन-किन चीजों का खास ध्यान देना चाहिए


सबसे पहली बात जिस भी बैंक से हाउसिंग कंपनी से होम लोन ले रहे हैं उसका intrestrate पर जरूर ध्यान दें यानी कि वो ब्याज जो आप भरने वाले हो एक्स्ट्रा पैसा उस पर जरूर ध्यान दें और सारे बैंकों का तुलना करें कंपेयर करें कि किस बैंक में इंटरेस्ट रेट सबसे कम है कौन सी ऐसी हाउसिंग कंपनी है जो होम लोन देने के लिए बहुत कम इंटरेस्ट ले रही है। और मै आपको जानकारी के लिए बता दे जो होम लोन का इंट्रेस्ट रेट होता है वह दो तरह के होते है एक

फिक्सड इंटरेटस्ट तथा दुसरा फ्लोटिंग इंटरेस्ट अब इन दोनो का अन्तर समझते है जो फ्लोटिंग intrestrate होता है वह हमेशा बढता घटता रहता है मान लीजीए आप ने 8% पर home loan 2022 लिये है और मान लिजिए 2023 किसी स्किम बस 7% intrestrate हो गया तो अब आपको 1% intrestrate भरना पड़ेगा अपने home loan का और अगर 9% हो गया तो आपको 1% जादा भरना पड़ेगा अपने होम लोन का कुल मिला जुला कर के जब-जब इंटरेस्ट रेट कम ज्यादा होगा तब तब आपके होम लोन का इंटरेस्ट कम ज्यादा होगा यदि आप फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट करवाते हैं तो और यही दूसरी तरफ अगर आप फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट लेते हैं तो इसमें क्या होता है जब आपका होम लोन लेते वक्त जो भी इंटरेस्ट रेट किया जाता है या फिर उस समय जो भी इंटरेस्ट रेट रहता है उसका एक परसेंट बड़ा करके फिक्स कर दिया जाता है अब फ्यूचर में कभी चाहे इंटरेस्ट रेट ज्यादा हो या फिर कम हो आपका जो होम लोन लेते समय इंटरेस्ट रेट फिक्स किया गया था वही लिया जाएगा।

. इसके साथ-साथ होम लोन लेते वक्त अपने होम लोन का पॉलिसी जरूर करा लेना चाहिए इससे यह फायदा होगा किसी कारणवश आपकी दुर्घटना हो जाती है यानी कि दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो आप जो घर जो मकान बना रहे हैं या फिर फ्लैट इत्यादी लिए हैं जिसका आप होम लोन भर रहे वह सेफ हो जाएगा यानी कि उसका कोई भी इंटरेस्ट कोई भी पैसा फ्यूचर में नहीं भरना पड़ेगा जैसे मान लीजिए एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं मान लीजिए आपने किसी फ्लैट को 20 साल तक emi भरने के लिए होम लोन चला रहे हैं और अगर आप 10 साल तक अपना होम लोन भर चुके हैं और एक राह में साल आपकी मृत्यु हो जाती है तो जो होम लोन रहेगा बिना पाल्सी का तो आपके घर वालों को चुकाना पड़ेगा या फिर अगर किसी कारणवश आपके घर वाले पैसा नहीं चुका पाएंगे तो जिस भी बैंक हाउसिंग लोन कंपनी इत्यादी से होम लोन लिए रहेंगे वह अपने कब्जे में ले लेगा और अगर आप होम लोन कराते वक्त पाल्सी भी कराए रहेंगे तो आपके जाने के बाद आपका बच्चा हुआ राशि वह पाल्सी वाला भरेगा जिस भी कंपनी का पाल्सी लिए हैं।



बैंक home loan देते समय आपकी योग्यता को कैसे मापते हैं


होम लोन लेते समय सबसे पहले आपके क्रेडिट स्कोर को ध्यान में रखते हुए होम लोन बैंक देती है यदि आप का क्रेडिट स्कोर 750 या फिर उससे अधिक है तो आपको होम लोन आसानी से मिल सकता है क्रेडिट स्कोर अच्छा बनाए रखने के लिए आपको बैंक के साथ में अच्छा खासा ट्रांजैक्शन यानी की लेनदेन होने चाहिए इसके साथ-साथ आपके क्रेडिट कार्ड और भी पुराने चल रहे ईएमआई इत्यादि टाइम पर भरते रहने चाहिए कभी भी आपको बैंक डिफाल्टर घोषित ना करें इस तरह से अपना कुछ व्यवहार बैंक के साथ में बनाकर रखेंगे तो आप का क्रेडिट इसको 750 से ऊपर जा सकता है।


होम लोन की कुछ और जानकारियां


. मान लीजिए आपको लगता है कि आपका क्रेडिट स्कोर बहुत खराब है आपका सैलरी बहुत कम है या फिर आपको लगता है कि हम दो पार्टनर मिलकर के अपने किसी घर के सदस्य को लेकर के हम किसी फ्लैट या फिर किसी घर का कंस्ट्रक्शन का काम करवाएं तो ऐसे समय में आपको लोन मिलेगा लेकिन जिस भी सदस्य को आप अपना पार्टनर बनाना चाहते हैं वह आपके ही घर का होना चाहिए इसके साथ-साथ उसका भी वही डाक्यूमेंट्स लगेगा जो आपका लगेगा इसके साथ-साथ उसका भी क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए तो ही होम लोन मिल सकता है।


. अगर आपको जानना है कि आपके सैलरी के हिसाब से आपको कितना होम लोन मिल सकता है तो आप एक बार गूगल में सर्च करके देख लीजिएगा बहुत सारे ऑनलाइन कैलकुलेटर हैं जिसके सहायता से आप अपने होम लोन के बारे में पता कर सकते हैं कि कितना होम लोन आपको मिल सकता है आपकी सैलरी अकाउंट में फिर भी मैं आपको एक एग्जांपल दे देना चाहता हूं यदि आप की मासिक आय ₹20000 प्रति महीना है तो आपको 14:30 लाख तक का लोन मिल सकता है इसके साथ-साथ अगर आपका 40 हजार का आपका महीने का सैलरी है तो आपको ₹300000 तक का लोन आपको मिल सकता है और भी अधिक जानकारी के लिए आप गूगल करके पता कर सकते हैं कि कितने अमाउंट पर कितने महीने का किस्त बैठेगा कितने हमें इंटरेस्ट देने पड़ेंगे कितने परसेंटेज यह सब जो है आपको कैलकुलेटर की सहायता से दिख जाएगा।



   आइए अब जानते हैं कौन सा बैंक कितना इंटरेस्ट रेट लेता है होम लोन के लिए।



. आदित्य बिडला हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड कि अगर होम लोन के बारे में बात किया जाए तो इसका कुछ इस तरह से विवरण है जैसा कि नीचे आपको दिख रहा है।

आदित्य बिडला हाउसिंग फाइनेंस होम लोन उन लोगों को देते हैं जिसकी आयु 21-70 वर्ष की होती है और अगर बात किया जाए इसके इंटरेस्ट रेट की तो यह लगभग 9.00 – 12.50% तक लेती है और अगर बात किया जाए इसके पीरियड टाइम का तो यह 30 साल तक का होम लोन की वैधता देता है।


. अब बात करते हैं एक्सिस बैंक के होम लोन किन चीजों को ध्यान में रखते हुए देती है।

 एक्सिस बैंक का अगर आपको होम लोन लेना है तो आपकी आयु 21-65 वर्ष के बीच में होना चाहिए और अगर बात किया जाए इसके इंटरेस्ट रेट की तो लगभग 6.75% – 11.50% तक होती है और होम लोन की अधिकतम सीमा 30 साल तक हीं होती है।


. बजाज फिनसर्व में होम लोन लेने के सदस्य की आयु 23-70 वर्ष के बीच में होनी चाहिए और अगर बात किया जाए इसके इंटरेस्ट रेट की तो यह लगभग 6.65% – 14% लेती है और लोन की अधिकतम सीमा 20 साल तक ही होती है।


. बैंक ऑफ बड़ौदा 21-70 वर्ष 6.50% – 8.25% 30 साल

. बैंक ऑफ इंडिया 18-70 वर्ष 6.50% – 8.35% 30 साल

. केनरा बैंक 18-70 वर्ष 6.65% – 11.45% 30 साल


. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 18-75 वर्ष 6.85% – 7.30% 30 साल

. फेडरल बैंक 18-65 वर्ष 6.60% – 7.80% 30 साल


. HDFC बैंक 21-65 वर्ष 6.70% – 8.70% 30 साल


. ICICI बैंक 21-65 वर्ष 6.70% – 7.55% 30 साल

.

IDBI बैंक 22-70 वर्ष 6.75% – 9.90% 30 साल

.

इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस 21-65 वर्ष 7.60% से शुरू 30 साल

. इंडियन ओवरसीज़ बैंक 18-70 वर्ष 7.05% – 7.40% 30 साल

. कोटक महिंद्रा बैंक 18-65 वर्ष 6.55% से शुरू 20 साल

. LIC हाउसिंग फाइनेंस 18-60 वर्ष 6.70% – 8.05% 30 साल

. पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस 18-70 वर्ष 6.75%-12.00% 30 साल

. पंजाब नेशनल बैंक 18-70 वर्ष 6.50% – 7.95% 30 साल

. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 18-70 वर्ष 6.70% – 7.85% 30 साल

. टाटा कैपिटल हाउसिंग फाइनेंस 24-65 वर्ष 6.70% से शुरू 30 साल

. यूको बैंक 21-75 वर्ष 6.50% – 7.00% 30 साल

. यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया 18-75 वर्ष 6.60% – 7.65% 30 




आशा करता हूं दोस्तों आपको इस पोस्ट से संबंधित बहुत सारी जानकारियां मिल गई होंगी लेकिन इस पोस्ट में अगर कुछ कमी रह गई है कुछ और जानकारी छूट गई है तो अगर आपको पता है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं। सकते हैं

कोई टिप्पणी नहीं